जेल प्रहरी बनने के लिए देशभर से आवेदन:मध्य प्रदेश में जेल प्रहरी के 226 पदों के लिए पीईबी को मिले 3 लाख 6 हजार 883 आवेदन, नवंबर के पहले हफ्ते ऑनलाइन कराएंगे एग्जाम

  • हर एक पद के लिए 1357 उम्मीदवारों के बीच होगी लिखित परीक्षा की प्रतियोगिता
  • अब पुलिस भर्ती सहित अन्य भर्तियों के लिए 4 सितंबर को भोपाल में जुटेंगे प्रदेश भर के युवा

मध्यप्रदेश में बेरोजगार युवा नई भर्ती नहीं निकलने के कारण अब सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी कर रहे हैं। सबसे ज्यादा युवा पुलिस भर्ती पर लगी अघोषित रोक के कारण आक्रोशित हैं। वे 3 साल से ज्यादा समय से आरक्षक व सब इंस्पेक्टकर भर्ती का इंतजार कर रहे हैं। तैयारी करते-करते हताश होने लगे हैं लेकिन भर्ती नहीं निकल रही है। ऐसे में अब प्रदेश भर के युवा 4 सितंबर को भोपाल में जुटकर आंदोलन करने जुटेंगे।

इधर,बेरोजगारी के हाल ऐसे हैं कि जेल प्रहरी के 226 पदों के लिए इस दौरान 3 लाख 6 हजार 883 आवेदन पहुंचे हैं। यानी हर एक पद के लिए 1357 उम्मीदवारों के बीच होगी लिखित परीक्षा की प्रतियोगिता होगी। यह परीक्षा 3 से 10 नवंबर तक होगी। 2018 के बाद 2020 में जेल मुख्यालय के लिए पीईबी ने जेल प्रहरी के 226 पदों के लिए सीधी भर्ती निकाली है। इसके लिए आवेदन की अंतिम तारीख 24 अगस्त बीत चुकी है। वहीं वर्ष 2018 में निकली 30594 पद के लिए शिक्षक भर्ती भी अटकी है। चयनित उम्मीदवार नियुक्ति के लिए परेशान हो रहे हैं।

उम्मीदवार सतेंद्र कुमार का कहना है कि युवा सालों मेहनत कर विभिन्न पदों के लिए भर्ती की तैयारी करते हैं। लेकिन भर्ती के नाम पर मजाक किया जा रहा है। भर्ती निकालते हैं तो समय पर नियुक्ति नहीं देते। अभी तक कोरोना संक्रमण के प्रोटोकाल का पालन कर अपनी मांग सरकार तक पहुंचाई। अब जब सरकार नहीं सुन रही है तो युवाओं को भोपाल में आंदोलन करने के लिए मजबूर होना पड़ रह है।

पुलिस भर्ती को लेकर मांगे

  • पुलिस भर्ती में शामिल होने की अधिकतम आयु बढ़ाकर 37 वर्ष की जाए क्योंकि, समय पर भर्ती निकलने से युवा लगातार ओवरएज हो रहे हैं।
  • कांस्टेबल के लिए 15 हजार और सब इंस्पेक्टर के 1500 पद के साथ भर्ती निकाली जाए।
  • भर्ती परीक्षा ऑनलाइन माध्यम से पीईबी द्वारा कराई जाए।
Leave a Reply 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *