JEE देने की नई एडवाइजरी:कैंडिडेट्स को देना होगा सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म, 1 से 6 सितंबर के बीच होने वाली JEE मेन एग्जाम के लिए NTA ने जारी की एडवाइजरी

  • सुबह 9 से दोपहर 12 बजे और दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक दो शिफ्ट में होगी परीक्षा
  • परीक्षा केंद्र पहुंचने पर कैंडिडेट्स के शरीर के तापमान की होगी जाँच, मास्क भी मिलेगा

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को फैसला सुनाते हुए NEET और JEE मेन 2020 प्रवेश परीक्षाओं को टालने की याचिका खारिज कर दी। इसके बाद अब JEE मेन 2020 का आयोजन 1 सितंबर से 6 सितंबर, जबकि NEET 2020 का आयोजन 13 सितंबर को तय शेड्यूल के हिसाब से ही होगा। इसी क्रम में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने JEE मेन 2020 के लिए एडमिट कार्ड जारी कर दिए हैं।

परीक्षा के लिए जारी गाइडलाइन

जारी एडमिट कार्ड में परीक्षा की तारीख और समय, एग्जाम सेंटर, उम्मीदवारों के नाम, रोल नंबर, फोटो, हस्ताक्षर और परीक्षा के लिए के दिशानिर्देश आदि शामिल हैं। एनटीए, परीक्षा संचालन प्राधिकरण ने जेईई मेन्स ने, कोविड -19 महामारी के बीच परीक्षा में उपस्थित होने के लिए उम्मीदवारों के लिए विशेष एडवाइजरी जारी भी की है।

दो शिफ्ट में होगी परीक्षा

इसके अलावा एनटीए ने एक ड्रेस कोड भी निर्धारित किया है, जिसमें मोटे तलवों वाले जूते/चप्पल और बड़े बटन वाले कपड़ों की अनुमति नहीं है। परीक्षा को आयोजन दो शिफ्ट में सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक और दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक किया जाएगा।

सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म में क्या भरें ?

घोषणा पत्र में कैंडिडेट्स को बताना होगा कि पिछले 14 दिन में उन्हें सर्दी, जुकाम, बुखार, कफ और सांस लेने जैसी कोई समस्या नहीं थी। अगर इनमें से कोई समस्या थी, तो उसके बारे में भी बताना होगा। इसके अलावा पिछले दिनों वह किसी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए हैं, तो यह बताना होगा कि वे क्वारंटीन किए गए या नहीं। साथ ही उन दिनों किसी देश या राज्य की यात्रा की है, तो उसकी भी जानकारी देनी होगी। स्वघोषणा पत्र पर कैंडिडेट की फोटो, अंगूठे का निशान और अभिभावक का हस्ताक्षर होना जरूरी है।

NTA की तरफ से जारी एडवाइजरी

  • भीड़ से बचने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाएं रखने के लिए उम्मीदवारों को एडमिट कार्ड 2020 में दिए गए समय के अनुसार परीक्षा केंद्र पहुंचना होगा।
  • बैठने की जगह, मॉनीटर, की-बोर्ड, माउस, वेब कैमरा, डेस्क और कुर्सी को हर जेईई मेन परीक्षा की शिफ्ट से पहले और बाद में अच्छी तरह से साफ किया जाएगा। सभी दरवाजे के हैंडल, सीढ़ी की रेलिंग, लिफ्ट के बटन आदि को भी सैनिटाइज किया जाएगा।
  • परीक्षा केंद्र पहुंचने पर सुरक्षाकर्मी द्वारा हर कैंडिडेट्स के शरीर के तापमान की जाँच की जाएगी।
  • कैंडिडेट्स को तीन लेयर वाले मास्क उपलब्ध कराए जाएंगे। परीक्षा के दौरान इसी मास्क को इस्तेमाल करना होगा।
  • परीक्षा हॉल में प्रवेश करने से पहले हर उम्मीदवार को वहां उपलब्ध हैंड सैनिटाइजर से अपने हाथों को साफ करना होगा।
  • उम्मीदवारों को जेईई मेन एडमिट कार्ड, आईडी कार्ड, पारदर्शी बॉल प्वाइंट पेन, अतिरिक्त तस्वीरें, व्यक्तिगत हैंड सैनिटाइजर और पारदर्शी पानी की बोतल ले जाने की अनुमति होगी।
  • भारत सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए हॉल के अंदर दो सीटों के बीच गैप को रखा जाएगा।
  • बार कोड रीडर के माध्यम से जेईई मेन एडमिट कार्ड की जाँच की जाएगी, फिजिकल कॉन्टेक्ट से बचने के लिए मेटल डिटेक्टर के जरिए फ्रिस्किंग की जाएगी।
  • दिव्यांग छात्रों के पास दिव्यांगता प्रमाण पत्र होना चाहिए और अपना स्क्राइब खुद लाना होगा। स्क्राइब को शैक्षिक प्रमाण पत्रों से संबंधित स्व घोषणा पत्र, कोविड-19 संबंधी स्वघोषणा पत्र और वैध सरकारी आईडी कार्ड लाना होगा।
  • ड्राइंग टेस्ट के लिए कैंडिडेट्स को खुद का ज्योमेट्री बॉक्स और कलर पेंसिल लाना होगा।
  • माता-पिता को सलाह दी जाती है कि वे जेईई मेन परीक्षा के दौरान परीक्षा केंद्रों पर न रहें।
  • परीक्षा के अंत में, उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्रों में संग्रह बॉक्स पर अपने जेईई मेन 2020 के एडमिट कार्ड और रफ वर्कशीट को छोड़ना होंगे।
  • उम्मीदवारों को परिसर में कम से कम 6 फीट की दूरी रखना अनिवार्य है।
  • मोटे सोल वाले जूते / चप्पल और बड़े बटन वाले कपड़ों की अनुमति नहीं है।
Leave a Reply 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *